Insights into simplifying train travel

जब लेना हो कम में ज्यादा का मज़ा, अपनाये ये तरीके

आमतौर पर घूमने-फिरने जाना हर किसी को पसंद होता है। मगर ज्यादातर लोग घूमने-फिरने में होने वाले बेहिसाब खर्च की वजह से जल्दी कहीं घूमने-फिरने नहीं जाते। हालांकि थोड़ी सी प्लानिंग कर घूमने के खर्च को अपने बजट के अनुकूल बनाया जा सकता है। आईये जाने कैसे करे बजट में घूमने-फिरने की प्लानिंग।

अच्छी तरह से रिसर्च कीजिए-

Research before travelling about the destination

आप अपनी छुट्टियों में जहां जाना चाहते है उस स्थान के बारे में अच्छी तरह से इंटरनेट पर रिसर्च कर लें। साथ ही अगर आपका कोई परिचित या रिश्तेदार कुछ दिनों पूर्व वहां से घूमकर आया है तो उससे भी ताजा एवं महत्वपूर्ण जानकारी इक्टठी कर ले। इन दोनों में भी किसी अपने परिचित से प्राप्त की गई जानकारी को ज्यादा महत्वपूर्ण एवं सटीक माने। क्योंकि ऑनलाइन जानकारी कई बार प्रायोजित होती है।

करें एडवांस बुकिंग-

Advance Booking

अपनी प्लानिंग के अनुसार छुट्टियों में आप जहां जाना चाहते है वहां के होटल एवं ट्रैवल टिक्टस की जितनी जल्दी बुकिंग करेंगे उतने ही फायदे में रहेंगे। ऐसा करने से आप जहां इमरजेंसी ट्रैवल के महंगे टिक्टस एवं होटल आदि की बुकिंग के खर्च से बच जाएंगे वहीं कम समय के दबाव में होने वाली अन्य परेशनियों से भी आपको निजात मिलने की पूरी संभावना है। संभव है कि आपको एडवांस बुकिंग करने पर कोई एक्सट्रा डिस्काउंट ऑफर मिल जाए। जबकि वही कम्पनियां पीक सीज़न में अपनी सर्विसेज का दोगुना दाम तक वसूल लेती है।

न प्लान करें अधिक दूरी की यात्राएं-

 avoid long disctance places

अक्सर देखा गया है कि लोग घूमने जाने के लिए अपने राज्य से काफी दूर के पर्यटन स्थलों का चयन कर लेते है पश्चिम बंगाल का पर्यटक अपने पड़ोसी राज्य उड़ीसा,झारखण्ड की बजाए सीधे जम्मू-कश्मीर और राजस्थान घूमने जाना पसंद करते है। ऐसे में उनके घूमने-फिरने का खर्च का ज्यादा होना लाज़मी है। यहां ये समझना जरूरी है कि पर्यटन के लिए जाने के मतलब दूर-दराज की ही यात्राएं करना नहीं होता। क्या पता आपके अपने राज्य या पड़ोसी राज्य में ही कई खूबसूरत, मनोरम पर्यटन स्थल हो जिनके बारे में आपको पता न हो। तो अगली बार जब आप छुटटियों  में सैर-सपाटे का प्लान बनाए तब अपने अगल-बगल के राज्य एवं शहरों को भी घ्यान में रखे।

शॉपिंग में दिखाए समझदारी-

avoid unwanted shopping

हमारे घूमने जाने में खर्च का एक बड़ा हिस्सा उस दौरान की जाने वाली शॉपिंग में चला जाता है। दरअसल नई जगह और वहां की नई-नई दुकानें देखकर हमारा मन खरीदारी के लिए मचलने लगता है। ऐसे में जरूरत है स्मार्ट ट्रैवलर बनने की। यानि की वहां मिलने वाले सामान के बारे में अच्छी तरह देख-जान ले। क्या पता वो सामान आपके शहर में भी तकरीबन उसी दाम पर उपलब्ध हो। और अगर वो समाना आपके शहर में न भी उपलब्ध हो तो भी ये जरूर सोचे की आपको उस सामान की कितनी जरूरत है। वहीं इंटरनेट के इस दौर में शायद ही ऐसा कोई सामान हो जो ऑनलाइन न मिलता हो, वो भी डिस्काउंट के साथ। फिर क्या जरूरत है किसी और शहर से सामान साथ ढोकर लाने की।

करें खाने-पीने के खर्च पर कंट्रोल-

ask locales for budget foods restaurants

घूमना जाने के दौरान जो दूसरा बड़ा खर्च आता है वो होता है वहां खाने-पीने में होने वाला खर्च। ऐसे में  आप स्थानीय लोगों से थोड़ी-पूछताछ कर उन जगहों एवं रेस्टोरेंट का पता लगा सकते है जहां खाना-पीना सही एवं सस्ते दाम पर उपलब्ध है। कई बढ़िया रेस्टोरेंट तो पर्यटकों के लिए ब्रेकफास्ट, लंच एवं डिनर के कोम्बों ऑफर भी रखते है। उनके बारे में ज़रूर पता किजिए।

ग्रुप में जाए घूमने-

chose travel in group

 

अकेले या फिर सिर्फ अपने परिवार को लेकर घूमनें जाने पर आपके घूमने का खर्च काफी ज्यादा हो सकता है। लेकिन यदि आप अपनी यात्रा किसी ट्रैवल ग्रुप के साथ करते है तो कम बजट में ज्यादा का मजा ले सकते है। हालांकि ये ऑफर सबको पसंद नहीं आता मगर ऐसे ऑफर्स के ज़रिये आप कम बजट में अच्छी सैर कर सकते है।

चुने ऑफ सीज़न-

chose non season travel

पीक सीज़न में हर पर्यटन स्थल सैलानियों से भरा पड़ा होता है। ये पर्यटन उधोग से जुड़े व्यापारियों के कमाने का समय होता है जिस कारण वहां मिलने वाली सभी चीजों के दाम आसमान छू रहे होते है। फिर आपकी जेब कैसे न हल्की हो? ऐसे में अगर आप पीक सीज़न की जगह ऑफ सीजन में अपना ट्रीप प्लान करते है तो आपको यकीनन इसका भी भरपूर फायदा मिलेगा।

रेलयात्रा के दौरान कितनी बदली हमारी आदतें 

रेलयात्री मील कैसे बुक करें 

 


2 thoughts on “जब लेना हो कम में ज्यादा का मज़ा, अपनाये ये तरीके

Leave a Comment

Required fields are marked *