Simplifying Train Travel

जान लीजिये क्योंकि आपका जानना ज़रूरी है

पर्यटन के क्षेत्र में आई बढ़ोतरी ने होटल इंडस्ट्री को भी अच्छा खासा फ़ायदा पहुँचाया है। नतीजतन आज देश के हर कोने में एक से बढ़कर एक होटल्स खुल रहे हैं। होटल्स की दिनों-दिन बढ़ती संख्या ने जहाँ आम लोगों की ज़रूरतों का ख्याल रखा जाता है, वहीं इनके ऑफर्स भी पर्यटकों को बहुत लुभाते हैं। मगर ज़्यादातर होटल वेबसाइटों पर उपलब्ध ऑफर्स इतने कंफ्यूजन भरे होते हैं कि आम आदमी की समझ में नहीं आते और अंततः लोग खुद को ठगा हुआ महसूस करते हैं। ऐसे में वो कौन से ख़ास टिप्स हैं जिनका इस्तेमाल कर आप एक शानदार डील प्राप्त कर सकते हैं, आईये जानें…

रिसर्च है ज़रूरी

ऐसा देखा गया है कि ज़्यादातर लोग एक ही वेबसाइट या ऐप्प के द्वारा होटल्स की बुकिंग करते हैं। हो सकता है कि आपके अनुसार वो हमेशा आपको बेस्ट डील ऑफर करते हैं। लेकिन क्या ये सही है? शायद नहीं। ऐसे में ज़रूरी है कि आप होटल बुकिंग को अपनी यात्रा का गंभीर हिस्सा मानकर इसके लिए अच्छी तरह रिसर्च करें और उसके बाद ही अपने मन मुताबिक डील फाईनल करें।

ऑनलाइन बुकिंग है बेस्ट-

वो ज़माना गया जब लोग गाड़ी में सामान लादकर होटल-होटल घूमते थे कि कहीं कोई बढ़िया कमरा मिल जाए। जबकि आज सबकुछ ऑनलाइन उपलब्ध है तो, खुद को किसी झंझट में डालने की बजाए क्यों न ऑनलाइन बुकिंग सुविधा का लाभ लिया जाए?

budget hotels

एडवांस बुकिंग-

अगर आपका यात्रा करना निश्चित है तो, जहाँ की यात्रा करनी है उस स्थान में होटल बुकिंग पहले से ही क्यों न कर लें? क्योंकि, कई बार ऐसा देखा गया है कि लोग वक़्त रहते एडवांस बुकिंग को नकारते हैं। परंतु ज़रूरत पड़ने पर सही होटल या  बजट होटल उपलब्ध नहीं होते। तो, ऐसी परेशानियों से खुद को बचाने के लिए एडवांस बुकिंग का विकल्प क्यों न चुनें ?

कैंसिलेशन पॉलिसी को जानें-

आमतौर पर होटल्स का बुकिंग सिस्टम जितना सरल होता है, वहीं उनकी कैंसिलेशन पॉलिसी थोड़ी उलझाने वाली होती है। ऐसे में अच्छा होगा कि आप बुकिंग के समय ही कैंसिलेशन पॉलिसी को भी ध्यान से पढ़ लें। इस दौरान अगर आपको होटल की कोई भी शर्त कंफ्यूज करे तो टोल फ्री नंबर पर कॉल कर उनके बुकिंग एजेंट आदि से स्पष्टीकरण ज़रूर मांगें।

टैक्सेज को भी समझें-     

होटल में रूम बुक करने पर आपको किराए के अलावा अन्य प्रकार के टैक्सेज भी देने पड़ते हैं। हालाँकि जीएसटी के लागू होने के बाद यह टैक्स प्रणाली सरल कर दी गई है। फिर भी जीएसटी की दर में लगातार हुए परिवर्तन से संशय की स्थित उभर सकती है। दरअसल एक निश्चित दर पर रूम बुकिंग पर कम या ज्यादा टैक्स देना पड़ता है। जिनकी दरें होटल्स की रैंकिंग एवं राज्यों में अलग-अलग है। उस स्लैब्स के बारे में भी अपडेटेड रहें।

book hotel with discount

पेड-अनपेड सर्विस को समझें-

याद रखें आपने जो रूम बुक किया है उसके साथ कुछ सर्विसेज आपको फ्री मिलती है और अधिकांश समय ये आपके बुकिंग आर्डर में अंकित होती है। जबकि ऐसी बहुत सी सेवाएँ आपके होटल या बुक किये गए कमरे में मौजूद होती है जिनके लिए आपको अलग से बिल चुकाना पड़ता है। जैसे- कमरे के मिनी फ्रिज में उपलब्ध बीयर्स आदि।

चेक-इन/चेक-आउट टाइम का रखें ख्याल-

वैसे तो ज़्यादातर होटल्स स्टैण्डर्ड चेकइन/चेकआउट टाइम ही फॉलो करते हैं। फिर भी कहीं-कहीं ये एक दूसरे से अलग होते हैं। ऐसे में होटल्स के इस नियम पर भी गौर करना ज़रूरी होता है।

रिवार्ड् पॉइंट्स से कम करें अपना खर्च-

स्पर्धा के इस दौर में हर दूसरी वेबसाइट आपको बुकिंग पर डिस्काउंट देकर लुभाना चाहती है। ये डिस्काउंट आपको किसी ख़ास फेस्टिवल ऑफर्स के समय तो आसानी से मिलते हैं पर बाकि वक़्त ऐसा नहीं होता। ऐसे में आप जिस ऐप्प या वेबसाइट के यूज़र हैं उससे कमाए रिवार्ड् पॉइंट्स के ज़रिये डिस्काउंट लेने की कोशिश करें।

रूम फ़सिलिटीज़ को समझें-

hotel booking rules

आपके द्वारा बुक किये गए रूम की फ़सिलिटीज़ आपके बजट और होटल की श्रेणी मतलब 3 स्टार होटल, 4 स्टार पर निर्भर करती हैं। इसे अच्छी तरह समझ लें, इसके अलावा यदि आप बच्चों या बुजुर्गों के साथ रुकने के लिए होटल बुक कर रहे हैं तो उनके लिए ज़रूरी फ़सिलिटीज़ भी जाँच लें।

पूछे बिग फैमिली रूम के बारे में-

कई बार ऐसा होता है कि आपका बजट थोडा कम और सदस्य ज्यादा होते है। इस तरह की परिस्थिति में ऐसा रूम बुक करने की कोशिश करें जो साइज़ में बड़ा हो एवं जिसमें एक्स्ट्रा बेड आदि की फ़सिलिटीज़ उपलब्ध हों। ज़्यादातर होटल्स में ऐसे रूम्स भी उपलब्ध होते हैं।

जब चाहिए थोड़ी शांति-

यदि आप अपनी छुट्टियाँ सुकून के साथ बिताना चाहते है तो कोशिश करें कि अपनी बुकिंग वीकडेज़ की करें। दरअसल ज़्यादातर लोग अपने घूमने-फिरने के प्लान वीकेंड के दिनों का बनाते हैं। इस दौरान होटल्स और पर्यटन स्थलों दोनों ही जगहों में बहुत भीड़ होती है जिससे आपकी शांति भंग हो सकती है।

होटल की लोकेशन जाँच लें-

don't buy cheap deal

आप जिस शहर में घूमने जा रहे हैं वहाँ के पर्यटन स्थलों से होटल की दूरी को जानकर ही बुकिंग करें। जी हाँ, ये भी संभव है कि उस शहर में हर तरफ कोई न कोई घूमने का स्थान हो। अगर आप निर्णय न ले पाएं की किस पर्यटन स्थल के पास अपना होटल बुक करें तो एक लिस्ट बनाकर समझें कि उस शहर के किस स्थान पर बुकिंग करने से आपको शारीरिक और आर्थिक रूप से कम परेशानी का सामना करना पड़े  और आप ज़्यादा से ज़्यादा एन्जॉय कर सकें।

सिर्फ सस्ती डील्स देखकर ही बुक न करें-

अक्सर कई होटल्स सस्ती डील्स के नाम पर मेहमानों को मिलने वाली बहुत सी सुविधाओं में कटौती कर देते हैं। यह बात आपको धीरे-धीरे समझ आती है। ऐसे में अच्छा है कि जब आपको कहीं से भी सस्ती डील का ऑफर मिले तो उसकी तुलनात्मक जांच उसी श्रेणी के किसी अन्य होटल के ऑफर के साथ कर लें कि डील कितनी सस्ती है।

आगे पढ़ें: आरएसी के नियम                                                ग्रुप ट्रैवल बुकिंग


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *