Insights into simplifying train travel

….तस्वीरें झूठ नहीं बोलती

त्योहारों के खुशनुमा मौसम में भी उमस भरी गर्मी का एहसास, 72 रेलयात्रियों की बोगी में 172 मुसाफिर, बंद पड़े मुँह चिढ़ाते पंखे जैसे फकत सजावट के लिए लगाए गए हो, और भीड़ में एक अदद सीट के लिए धक्का-मुक्की करते मुसाफिर। भारतीय रेलवे के ऐसे नज़ारे अक्सर हमें हैरान-परेशान कर देते हैं। ऐसे में पह्ली नज़र में किसी भी भारतीय का ये कहना गलत नहीं कहा जा सकता कि आज भी भारतीय रेलवे यात्री सुविधाओं को लेकर काफी पीछे है। लेकिन क्या ऐसा पूरी तरह से सही है? शायद नहीं…क्योंकि इंटरनेट से प्राप्त दुनिया के विभिन्न देशों की रेलवे से जुड़ी कुछ दुर्लभ तस्वीरें तो ऐसा नहीं कहती है कि भारतीय रेलवे ही अकेला है जो सच में खस्ताहाल है।

जरा एक नज़र फेरिए इन तस्वीरों पर और जानिए-समझिए की दुनिया के कई देश में रेल सेवा का कमोवेश यहीं हाल है। इसलिए भारतीय रेल की कमियों से निराश होने की बजाए उसकी सेवाओं का आनंद लीजिए।

ब्राजील 

Brazil train rush

बांगलादेश 

Bangladesh train rush

ऑस्ट्रेलिया

Austrailia train rush

इजिप्ट

Egypt train rush

इन्डोनेशिया

Indonesia train rush

जापान

Japan train rush

पाकिस्तान

Pakistan train rush

यूनाइटेड किंगडम

UK train rush

चार्इना 

China train rush

 


4 thoughts on “….तस्वीरें झूठ नहीं बोलती

  1. Dipak Manek

    Yahi to chalta hai ki soch se hi to Hume Bahar nikalna hai.
    Dusre desho me yahi samsya hai is se hum humare desh me ho rahi badintazami ko justify to nai Kar sakte na?
    Thik hai chalo bhukamp, tsunami badh jese halat ka hum samna nai Kar sakte kyuki woh Bina inform kiye aate hai par tyohar ka to ek tey schedule hota hai kya hum is ki taiyari bhi thik time par nai kal Kar sakte?
    I believe ki rail vyavastha me kafi sudhar hua hai par abhi bahot kuchh karna baki hai….

    Comment

Leave a Comment

Required fields are marked *